Top 10 Yoga for cricketers in Hindi - क्रिकेटर्स के लिए बेस्ट योगा

 

Top 10 Yoga for cricketers in Hindi - क्रिकेटर्स के लिए बेस्ट योगा

Best yoga for cricketers in Hindi


इस लेख में क्रिकेटर्स के लिए योग (Yoga for the cricketers in Hindi) का उल्लेख किया गया है। अगर आप कुछ ऐसे योग तथा प्राणायाम की खोज में हैं जिससे आपके फ़िजिकल और मेंटल हेल्थ में इम्प्रूवमेंट हो, तो यह लेख आपके लिए मददगार साबित हो सकता है।

आज हर खिलाड़ी किसी न किसी इंजरी से परेशान रहता है और उससे निज़ात पाने के लिए हर वह प्रयास करता है जो जरुरी है। लेकिन हर किसी को रिजल्ट्स इतनी जल्दी तथा आसानी से नहीं मिलता। ऐसे में उनके परफोर्मेंस पर असर पड़ता है।

निचे दस बेस्ट क्रिकेट योगा के बारे में बताया गया है तथा उसे करने के तरीके व सावधानियाँ सरल रूप से दर्शाया गया है।

10 Best yoga for cricketers in Hindi


नोट- निचे बताये गए योग के स्त्रोत ऋषियों के द्वारा रचित ग्रंथों और अनुभवी योग शिक्षक हैं। योग व्यायाम में वह शक्ति होती है जिससे व्यक्ति का कायाकल्प हो जाता है। हर महान इंसान योग अवश्य करता है। इसलिए आप इन योग को पहले समझ लें तथा एक डायरी में नोट कर लें और सही तरीके से योग करें।

1- सूर्य नमस्कार (Surya namaskar)


सूर्य नमस्कार यह विश्व का सबसे अधिक परफॉर्म किया जाने वाला योग है। सूर्य नमस्कार में नाख़ून से लेकर बाल तक प्रायः सभी अंगों का व्यायाम हो जाता है। सूर्य नमस्कार को सबसे कारगर योग बताया गया है। अगर आप किसी भी प्रकार की इंजरी से परेशान हैं तो आपको सूर्य नमस्कार अपने शेड्यूल में शामिल जरुर करना चाहिए।

सूर्य नमस्कार क्रिकेटर्स के लिए बेहतरीन योग है। निचे सूर्य नमस्कार के कुछ फायदे तथा तरीके दिए हुए हैं जिन्हें आपको ध्यान में रखना चाहिए।

सूर्य नमस्कार के फायदे


  • शरीर को शारीरिक और मानसिक मजबूती प्रदान करता है।
  • शरीर को लचीला बनाकर तमाम इन्जरिस से रक्षा करता है।
  • स्टेमिना बढ़ाने में मदद करता है।
  • पाचनतंत्र को मजबूत बनाता है।
  • कलाईयों, कन्धों, कमर तथा पैरों की हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है।
  • सूर्य नमस्कार होरमोंस के इम्बैलेंस को ठीक करता है।

सूर्य नमस्कार करने का तरीका



2- सर्वांगासन (Sarvangasana)


क्रिकेटर्स अक्सर ऐसे योग को करना चाहते हैं जिनसे उनके परफॉरमेंस में सुधार भी आये। सर्वांगासन को आसनों का राजा भी कहा जाता है। अगर आप बल्लेबाज़ है या गेंदबाज़ हैं तो यह योग हर किसी के लिए लाभदायक है।

Top 10 Yoga for cricketers in Hindi - क्रिकेटर्स के लिए बेस्ट योगा

यह न सिर्फ आपको शारीरिक मजबूती देता है बल्कि मानसिक शान्ति भी प्रदान करता है। लेकिन अगर आपको हाई या लो ब्लडप्रेशर , ग्लूकोमा, थायराॅइड, गर्दन या कंधे में चोट है तो इसे किसी चिकित्सक के परामर्श के बाद ही करना चाहिए।

Top 10 Yoga for cricketers in Hindi - क्रिकेटर्स के लिए बेस्ट योगा
Image source- funalive

सर्वांगासन करने के फायदे


  • यह अपर बॉडी को फ्लेक्सिबल तथा मजबूत बनाता है।
  • सर्वांगासन नेत्रों की ज्योति बढ़ाता है।
  • यह कमर को मजबूत बनाता है।
  • मष्तिष्क तथा ह्रदय में खून का भ्रमण अच्छे से होता है।
  • यह कंसंट्रेशन लेवल बढ़ाने में मदद करता है।

सर्वांगासन करने का तरीका


  • सबसे पहले जमीन पर शवासन की स्थिति में लेट जाएँ।
  • उसके बाद अपने दोनों पैरों को हवे में उठाते हुए ऊपर की ओर लाएँ।
  • पैरों को ऊपर लाते समय कमर को दोनों हाथों से सहारा दें।
  • अब पैरों तथा कमर को स्ट्रेच करते हुए ऊपर की ओर ताने और होल्ड करें।

यह भी पढ़ें - Best Cricket gym exercises
 

3 - उत्कटासन (Utkatasana/Chair pose)


क्रिकेटर्स जिम में स्क्वाट्स अक्सर परफॉर्म करते हैं, आपको जानना चाहिए की स्क्वाट्स यह उत्कटासन से लिया गया व्यायाम है। क्रिकेटर्स के लिए उत्कटासन बेहद ही लाभदायक साबित हो सकता है 

क्योंकि क्रिकेट में लोवर बॉडी का प्रयोग अधिक होता है और उत्कटासन से लोवर बॉडी के साथ-साथ अन्य बहुत से लाभ मिलते हैं।

Top 10 Yoga for cricketers in Hindi - क्रिकेटर्स के लिए बेस्ट योगा

उत्कटासन के फायदे


  • उत्कटासन से रीढ़ की हड्डी, कमर और चेस्ट के मसल्स को स्ट्रेंग्थ मिलती है।
  • उत्कटासन करने से बैलेंस अच्छे से बनता है।
  • दिमाग तथा मन स्थिर होता है।
  • जाँघों, घुटनों तथा पैरों को व्यायाम मिलता है।

उत्कटासन करने का तरीका


  • सबसे पहले दोनों पैरों में थोड़ा गैप रखकर खड़े हो जाएँ।
  • धीरे-धीरे दोनों हाथों को उठाकर जमीन के समतल ले आएँ।
  • साथ में खुद को एक कुर्सी पर बैठने के पोजीशन में ले आएँ।
  • ध्यान रहे की आपका घुटना आपने पैरों की अँगुलियों से आगे न जाए।
  • धीरे-धीरे निचे जाते जाएँ और अंत में जमीन पर बैठ जाएँ।

4- दंडासन (Dandasana/Plank pose)


क्या आपको पता है की प्लैंक जैसे वर्कआउट दंडासन से ही लिए गए हैं। दंडासन से पुरे शरीर को लाभ मिलता है। इससे न सिर्फ मजबूती मिलती है बल्कि पुराने इन्जरिस भी जल्दी ठीक हो जाते हैं। इसे प्लैंक्स की तरह करने से बेहतर इसे योग की तरह करें।

Top 10 Yoga for cricketers in Hindi - क्रिकेटर्स के लिए बेस्ट योगा

दंडासन करने के लाभ


  • दंडासन से कंधों को मजबूती मिलती है।
  • इससे रीढ़ की हड्डी लचीली तथा मजबूत बनती है।
  • शरीर के मांसपेशियों को मजबूत करता है।
  • कोर को स्ट्रेंग्थ देता है।
  • दिमाग को शांत करता है।
  • पाचनतंत्र को सुधारता है।

दंडासन करने का तरीका


  • सबसे पहले जमीन पर पेट के बल लेट जाएँ।
  • अपने हाथों को अपने कन्धों के समानांतर रख शरीर को उठा लीजिये।
  • नज़रों को सामने रखें और साँस पर फोकस करें।

5- शीर्षासन (Shirshaasana)


यह एक कठिन योग है। लेकिन अभ्यास से यह बेहद आसान हो सकता है। यह योग क्रिकेटर्स के लिए वरदान साबित हो सकता है क्योंकि इसे आसनों की माता कहा जाता है। अगर आपका वजन ज्यादा है तो आप इसके स्थान पर सर्वांगासन करें। अगर आपको कोई अन्य दिक्कत हो तो चिकित्सक के परामर्शानुसार ही इस योग को करें।


शीर्षासन हर क्रिकेटर के लिए कम्पलसरी होना चाहिए क्योंकि इससे शरीर के साथ मानसिक ताकत प्राप्त होती है जिसका क्रिकेट में बहुत ही अधिक उपयोग होता है। शुरुवात में आप इस आसन को किसी के मदद के द्वारा कर सकते हैं।

शीर्षासन करने के लाभ


  • शीर्षासन करने से नेत्र सम्बन्धी विकार दूर हो जाते हैं।
  • मष्तिष्क तथा मन संतुलित होता है।
  • अपर बॉडी को मजबूती मिलती है।
  • पाचनक्रिया सुधरती है।
  • बाल से सबंधी विकार दूर होते हैं।
  • चेहरे से जुडी समस्याएँ दूर होती है तथा चेहरे की चमक बढती है।
  • वजन को संतुलित करता है।
  • पुराने इंजरी जल्दी ठीक होती है।

शीर्षासन करने का तरीका


  • सबसे पहले वज्रासन मुद्रा में बैठे और झुककर अपने दोनों हाथों की अँगुलियों को लॉक करें।
  • हाथ में बन रहे कटोरी में अपने सिर को रखें।
  • सिर को रखकर अपने शरीर को संतुलित रख धीरे-धीरे ऊपर उठाएँ। आप शुरुवात में किसी का सहारा ले सकते हैं।
  • अपने पैर को ऊपर ले जाकर स्ट्रेच करें और साँसों पर ध्यान लगाएँ।
  • कम से कम एक मिनट तक इसे करें फिर धीरे-धीरे मूल अवस्था में वापस आएँ।


6- नौकासन (Naukasana/ boat pose)


आपने नाँव चलाते हुए नाविकों को देखा होगा, नौकासन भी उन्ही मुद्राओं से लिया गया एक व्यायाम है, जिसे ध्यान पूर्वक करने से अनेकों लाभ हो सकते हैं। क्रिकेटर्स के लिए यह आसन बेहद लाभदायक सिद्ध हो सकता है क्योंकि नौकासन से कोर मसल्स के साथ बैक के मसल्स भी एक्टिव होते हैं।

Top 10 Yoga for cricketers in Hindi - क्रिकेटर्स के लिए बेस्ट योगा
Image source - indiatv

अगर आपको माइग्रेन या दिल से जुडी बीमारियाँ हों तो इसे करने से पहले चिकित्सक से परामर्श ज़रुर लें।

नौकासन करने के लाभ


  • नौकासन से कमर तथा पेट की मांसपेशियाँ मजबूत बनती हैं।
  • शरीर के इन्जरिस को जल्दी रिकवर करने में मदद करता है।
  • लोवर बॉडी के सभी पार्ट्स को स्ट्रेंग्थ प्रदान करता है।

नौकासन करने का तरीका


  • सबसे पहले सीधे मुद्रा में लेट जाएँ।
  • दोनों पैरों तथा हाथों को शरीर के नजदीक रखें।
  • दोनों पैरों को तथा अपने सर, कंधे तथा हाथों ऊपर की ओर उठाएँ
  • हिप पर पुरे बॉडी का संतुलन रख पेट तथा छाती पर खिचाव महसूस करें।
  • कुछ देर उसी पोजीशन में रहें और साँसों पर ध्यान लगायें तथा शुरुवाती मुद्रा में वापस आएँ।

7- वीरभद्रासन (Virabhadrasana/ warrior pose)


आपने लंजिस अवश्य किये होंगे आपको पता होना चाहिए की लंजिस वर्कआउट इसी आसन से लिया गया है। बल्लेबाज़ों को संतुलन की अधिक आवश्यकता होती है और गेंदबाजों को लैंडिंग के समय संतुलन की अधिक आवश्यकता होती है। इस योग से उन्हें संतुलन के साथ लोवर बॉडी को मजबूती प्रदान करता है। यह बेहद ही सरल योग है जिसे हर क्रिकेटर को अपने शेड्यूल में शामिल जरुर करना चाहिए।

Top 10 Yoga for cricketers in Hindi - क्रिकेटर्स के लिए बेस्ट योगा
Image source- funalive

वीरभद्रासन को करने के लाभ


  • वीरभद्रासन करने से मन शांत तथा मस्तिष्क संतुलित होता है।
  • शरीर के बैलेंस में इम्प्रूवमेंट होता है।
  • लोवर बॉडी मजबूत बनती है।
  • स्टीफ़ हुई बॉडी को फ्री करता है।

वीरभद्रासन करने का तरीका


  • पैरों को क्षमतानुसार फैलाकर कर सीधे खड़े हो जाएँ
  • अब दाहिने पैरों को 90 डिग्री और बाएं पैर को 15 डिग्री घुमाएँ ध्यान रहे की दाहिना एड़ी बाएँ पैर के सीध में हो।
  • दोनों हाथों को कंधे तक सीध में उठायें और हथेलियों को आसमान के तरफ रखें।
  • साँस छोड़ते हुए दोनों घुटने मोड़ें और संतुलन बनाने की कोशिश करें।
  • सर को घुमाकर दाहिनी ओर देखें।

8- बद्ध कोणासन (Baddha konasana)


आपने बटरफ्लाई पोज़ कई बार किये होंगे,ये पोज़ बद्ध कोणासन से लिया गया है। बद्ध कोणासन के कई फायदे हैं और हर खिलाड़ी अपने कूल डाउन में इसे शामिल करता है। यह क्रिकेटर्स के लिए बेहतरीन योग है। जिससे वे तमाम इन्जरिस से बचे रह सकते हैं।

Top 10 Yoga for cricketers in Hindi - क्रिकेटर्स के लिए बेस्ट योगा
Image source - asanajournal


बद्ध कोणासन को करने के फ़ायदे


  • बद्ध कोणासन को प्रतिदिन करने से शरीर का रक्त संचार सुधरता है।
  • मष्तिस्क शांत होता है तथा टेंशन कम होता है तथा कंसंट्रेशन बढ़ता है।
  • लोवर बॉडी की फ्लेक्सिबिलिटी बढ़ती है तथा इन्जरिस से बचाव होता है।
  • रीढ़ की हड्डी तथा ग्लुट्स को स्ट्रेंग्थ देता है।

बद्ध कोणासन करने का तरीका


  • सबसे पहले जमीन पर सीधे बैठ जाएँ और साँस छोड़ते हुए दोनों पैरों के पंजों को मिला लें।
  • दोनों पैरों को हल्का सा ऊपर की ओर ले आएँ जिससे दोनों घुटने जमीन को स्पर्श करें।
  • घुटनों पर अधिक दबाव न डाले और सामान्य मुद्रा में बने रहें।
  • रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें।

9- अनुलोम विलोम (Anulom vilom)


यह एक प्राणायाम है जिसे अकेले भी किया जाता है लेकिन अगर बात करें क्रिकेटर्स की तो यह प्राणायाम हर क्रिकेटर को जरुर करना चाहिए। क्योंकि इससे इंटरनल स्ट्रेंग्थ के साथ दिमाग को शान्ति मिलती है।

अनुलोम विलोम को करने का तरीका


  • शौचादि से निवृत्त होकर सुखासन मुद्रा में बैठ जाएँ।
  • लम्बी गहरी श्वास के बाद दाहिने हाथ के अंगूठे को दाहिने नथुने पर रखें और बाएँ नथुने से श्वास खीचें तथा बाएँ नथुने से श्वास छोड़ें।
  • यही क्रिया हाथ बदलकर करें।

10- कपालभाति (Kapaalbhati)


कपालभाति भी क्रिकेटर्स के लिए बेहतरीन प्राणायम है क्योंकि कपालभाती से ह्रदय सम्बन्धी विकार दूर होते हैं, चेहरे पर चमक आती है। पाचनक्रिया सुधरती है।

Top 10 Yoga for cricketers in Hindi - क्रिकेटर्स के लिए बेस्ट योगा
Image source - funalive

सबसे जरुरी चीज़ की यह मानसिक शांति और प्रसन्नता का अनुभव देती है, जिससे परफोर्मेंस में सुधार आता है।

कपाल भाति करने के लिए सुखासन की स्थिति में बैठ जाएँ और कुछ लम्बी तथा गहरी श्वास लें। पेट को अन्दर की तरफ कर झटके से श्वास खींचें फिर झटके से श्वास को छोड़ें यह क्रिया गति के साथ चालू रखें कम से कम सौ श्वास ले तथा छोड़ें।

Conclusion

इस लेख में आपने क्रिकेटर्स के लिए योग (Yoga for cricketers in Hindi) पढ़ा, जिसमें उन्हें करने का तरीका और उनकी सावधानियों को भी जाना। आशा है यह लेख आपको पसंद आया हो। अगर यह लेख आपको मददगार लगा हो तो इसे शेयर जरुर करें।

एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ

please do not spam