Rahul dravid biography in Hindi | Net worth, career, education, wife, records

 

Rahul dravid biography in Hindi | Net worth, career, education, wife, records

राहुल द्रविड़ का जीवन परिचय The wall rahul dravid biography in Hindi 


इस लेख में मिस्टर डिपेंडेबल राहुल द्रविड़ की जीवनी (Rahul dravid full biography in hindi) का समावेश किया गया है। भूतपूर्व तेज़ गेंदबाज़ शोएब अख्तर कहते हैं की उन्हें अन्य खिलाड़ियों से ज्यादा राहुल द्रविड़ से खतरा महसूस होता था। राहुल जो अपनी बल्लेबाज़ी के साथ अपनी सिम्प्लिसिटी के लिए भी याद किये जाते हैं, इस लेख में हम राहुल द्रविड़ का जीवन परिचय पर प्रकाश डालेंगे।

राहुल द्रविड़ की जीवनी Rahul dravid biography Hindi


विश्व में बहुत से क्रिकेटर हुए हैं जिनमें से ऐसे हैं जो लोगों के दिलों में बस जाते हैं और ऐसे ही एक खिलाड़ी का नाम राहुल द्रविड़ हैं। बहुत से लोग कहते हैं की क्रिकेट सक्षमता की मांग करती है लेकिन राहुल द्रविड़ एक आदर्श उदाहरण है जिन्होंने यह सिद्ध किया है की सफलता के लिए निरंतर प्रयास और कठिन परिश्रम साथ ही समर्पण जरूरी है।

यह जरूरी नहीं कि आपके पास कितना धन है या कितनी ताकत है, जरूरी है तो यह की आप कितनी धैर्य से अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ सकते हैं। भारतीय क्रिकेट इतिहास में राहुल द्रविड़ का नाम स्वर्ण अक्षरों में अंकित हो गया है अभी तक ऐसा कोई खिलाड़ी भारत को नहीं मिला है इस राहुल द्रविड़ का रिप्लेसमेंट कहा जा सके।

राहुल द्रविड़ का जन्म और शुरुवाती जीवन Rahul dravid early life in Hindi


राहुल द्रविड़ का जन्म 11 जनवरी 1973 को इंदौर मध्य प्रदेश में हुआ था। द्रविड़ एक मराठा परिवार से हैं। राहुल द्रविड़ के जन्म के कुछ समय बाद इनका परिवार बेंगलुरु में जाकर रहने लगा।

Rahul dravid biography in Hindi | Net worth, career, education, wife, records
Credit- Facebook

राहुल द्रविड़ के पिता का नाम शरद द्रविड़ और माता का नाम पुष्पा द्रविड़ है। राहुल के पिता एक कृषि कंपनी में कार्य करते थे तथा इनकी माता बेंगलुरु के एक विश्वविद्यालय में वास्तुकला विषय की प्रोफेसर थी।

राहुल द्रविड़ को शुरुआत से ही क्रिकेट से प्रेम था इसलिए वे कपड़ा धोने वाले लकड़े से गलियों में क्रिकेट खेलते थे। उनके परिवार ने इन्हें एक क्रिकेट क्लब में दाखिला दिलवाया और जिस स्कूल में वे पढ़ते थे वहां भी यह क्रिकेट में काफी अच्छा करते थे।

कुछ वर्षों के अभ्यास से इनके अंदर निखार आना शुरू हुआ और वे सीनियर टीम में प्रैक्टिस करने लगे। उनके कोच कहते हैं की अपने शुरुआती वर्षों में यह किसी से आउट ही नहीं होते थे इसलिए इन्हें सीनियर टीम में डाला गया। सीनियर्स के साथ कुछ महीनों में यह इतने घुल मिल गए की उन्हें टक्कर देने लगे।

Rahul dravid biography in Hindi | Net worth, career, education, wife, records
Credit- Firstpost

12 साल की उम्र में द्रविड़ ने कर्नाटक क्रिकेट एसोसिएशन के लिए अंडर-15, अंडर-17 और अंडर-19 एज ग्रुप क्रिकेट खेला


राहुल द्रविड़ की शिक्षा- Rahul dravid education in Hindi


राहुल द्रविड़ शुरू से ही शांत और सिंपल स्वभाव के थे, वे पढ़ाई में भी बहुत अच्छे थे तथा अतिरिक्त चीजों जैसे कि स्पोर्ट्स में हमेशा अव्वल रहते थे। सामान्य कद काठी के राहुल द्रविड़ बहुत ही मेहनती तथा समय बाद विद्यार्थी थे।

राहुल द्रविड़ सेंट जोसेफ बॉयज स्कूल बेंगलुरु में अपने शुरुआती पढ़ाई की उसके बाद सेंट जोसेफ कॉलेज ऑफ कॉमर्स से उन्होंने स्नातक किया उनका चयन इंडियन क्रिकेट टीम के लिए तब हुआ जब वे सेंट जोसेफ कॉलेज ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन से एमबीए की पढ़ाई कर रहे थे।

राहुल द्रविड़ हिंदी अंग्रेजी मराठी और कन्नड़ जैसे भाषाओं को लिखने पढ़ने बोलने में निष्णांत हैं। राहुल द्रविड़ का भाई विजय द्रविड़ उनके साथ ही पढ़ाई करता था।


राहुल द्रविड़ का कैरियर Rahul dravid career in Hindi


राहुल द्रविड़ ने 12 वर्ष की उम्र में क्रिकेट खेलना शुरू किया और बहुत ही तेज गति से क्रिकेट को समझा तथा सीखा। जब वह क्रिकेट सीखने कोचिंग कैंप में जाते थे तो उनके कोच केकी तारापोर ने उन्हें नोटिस किया और उन पर अतिरिक्त ध्यान देने लगे।

नतीजा यह निकला कि राहुल द्रविड़ अपने स्कूल की टीम से बेहतर परफॉर्मेंस देने लगे ऐसे ही एक मैच में उन्होंने शतक बनाया और आगे बढ़ने का अपना रास्ता साफ किया। 

 राहुल द्रविड़ न सिर्फ बल्लेबाजी में अच्छे थे बल्कि विकेट कीपिंग भी अच्छी तरह से कर लेते थे उन्होंने कई बार अपने स्कूल के लिए विकेटकीपिंग भी की थी।

राहुल द्रविड़ ने रणजी ट्रॉफी में डेब्यू फरवरी सन 1991 में किया। इस वक्त वे अपने कॉलेज की पढ़ाई कर रहे थे और उसके साथ क्रिकेट को भी समय दे रहे थे। 

अपने रणजी ट्रॉफी के समय राहुल द्रविड़ भारतीय इंटरनेशनल क्रिकेट टीम के दिग्गज खिलाड़ी जैसे अनिल कुंबले, जवागल श्रीनाथ के विरुद्ध मैच भी खेला था। उस मैच में उन्होंने 82 रनों की शानदार पारी खेली थी तथा मैच को ड्रॉ करवाया था इस इनिंग से वह सिलेक्टर्स की नजर में आ गए थे।

Rahul dravid biography in Hindi | Net worth, career, education, wife, records

कुछ मैचों बाद उन्होंने बंगाल के सामने एक शतक जड़ दिया। साल 1991-92 राहुल द्रविड़ के लिए बेहद ही अच्छा रहा क्योंकि उन्होंने उस पर लगभग 64 की औसत से रन बनाया था और साउथ जोन क्रिकेट टीम के लिए दुलीप ट्रॉफी के लिए उनका चयन भी हुआ था।

 
दुलीप ट्रॉफी में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद वे इंडिया ए के लिए चुने गए और साल 1994-95 में इंग्लैंड ए के खिलाफ मैच खेला और इन मैचों के बाद राहुल द्रविड़ को भारतीय क्रिकेट टीम के लिए चुन लिया गया। 

लेकिन बदनसीबी से उन्हें ज्यादा मौका नहीं मिला, लेकिन वह हार ना मानकर फिर से लिस्ट ए के मैचो को खेलने के लिए चले गए।

Rahul dravid biography in Hindi | Net worth, career, education, wife, records

साल 1996 के वर्ल्ड कप के लिए उन्हें भारतीय टीम में फिर से चुना गया और कुछ इस तरह उन्होंने 3 अप्रैल सन 1996 में एक बार फिर खेलें। हालांकि इस मैच में वे 3 रनों पर मुथैया मुरलीधरन के हाथों आउट हो गए लेकिन उस मैच में 2 कैच पकड़े। बदकिस्मती से अगला मैच भी उनके लिए कुछ ज्यादा अच्छा नहीं रहा जिसमें मात्र 4 रनों पर आउट हो गए।

राहुल द्रविड़ ने टेस्ट में डेब्यू 20 जून सन 1996 में इंग्लैंड के विरुद्ध किया क्योंकि उस मैच में संजय मांझरेकर इंजरी की वजह से नहीं खेल रहे थे। राहुल द्रविड़ नंबर 7 पर बल्लेबाजी करने आए और 95 रनों की शानदार पारी खेली। 

उन्होंने नासिर हुसैन को आउट कर अपना पहला कैच भी पकड़ा। उस सीरीज के तीसरे टेस्ट में पहली इनिंग में अर्धशतक और दूसरी इनिंग में शतक बनाकर एक नए युग का बिगुल फूंका।

उसके बाद राहुल द्रविड़ रुके नहीं वह लगातार भारत के लिए बेहतर से बेहतर परफॉर्मेंस करते रहें, उनका डिफेंस इतने मजबूत होता था कि बड़े से बड़े गेंदबाज उनके सामने पस्त होते नजर आते थे।

राहुल द्रविड़ के असली टैलेंट की पहचान सन 2001 में हुई जब ऑस्ट्रेलियन टीम स्टीव वॉ की कप्तानी में लगातार 16 टेस्ट में जीत हासिल करती आ रही थी। उस मैच में राहुल द्रविड़ ने 274 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली जिसमें वीवीएस लक्ष्मण की बेहतरीन पारी भी याद की जाती है। 

उस मैच को भारतीय क्रिकेट के लिए बेहद शानदार दिन माना जाता है जिसमें भारत ने 171 रनों से ऑस्ट्रेलिया को हराकर उसके 16 मैचों के जीत का घमंड चूर चूर कर दिया था।

राहुल द्रविड़ को 2007 के वर्ल्ड कप के लिए कप्तानी पद सौंपा गया, लेकिन वह वर्ष भारत के लिए बेहद अच्छा नहीं रहा था। इसके बाद राहुल द्रविड़ ने कई कीर्तिमान अपने नाम किए लेकिन साल 2009 में उन्हें भारतीय ओडीआई टीम से ड्रॉप कर दिया गया।

साल 2011 में उन्हें फिर से चुना गया और इंग्लैंड के खिलाफ 69 रनों की पारी खेलकर उन्होंने ओडीआई को अलविदा कहा। साल 2012 में द्रविड़ में टेस्ट क्रिकेट से भी रिटायरमेंट ले लिया और आईपीएल के लिए राजस्थान रॉयल टीम के कप्तान बने। साल 2013 में उन्होंने t20 से भी संयास ले लिया और इस तरह एक युग का अंत हुआ।

हालांकि बाद में उन्हें कई पदों पर आसीन किया गया और उनमें से एक अंडर-19 टीम के कोच के रूप में उन्हें चुना गया। अपना शत-प्रतिशत देकर उन्होंने अंडर-19 के खिलाड़ियों को शीर्ष स्तर की ट्रेनिंग दी जिसके कारण साल 2019 का वर्ल्ड कप भारतीय अंडर-19 टीम जीत सकी।

राहुल द्रविड़ की पर्सनल लाइफ़ - Rahul dravid marriege, childs and family in Hindi


राहुल द्रविड़ के साथी खिलाड़ी कहते हैं कि राहुल द्रविड़ एक बेहद सिंपल इंसान हैं, जो समय की कीमत जानते हैं जिन्हें लेट होना बिल्कुल भी पसंद नहीं है। राहुल द्रविड़ को अपनी लाइफ पार्टनर के रूप में विजेता पेंधारकर का साथ मिला।

Rahul dravid biography in Hindi | Net worth, career, education, wife, records

विजेता एक कुशल सर्जन के साथ एक कुशल गृहणी भी हैं। राहुल द्रविड़ की वाइफ विजेता पेंधारकर ने राहुल द्रविड़ के जीवन में बहुत से योगदान दिए हैं। 

11 अक्टूबर को राहुल द्रविड़ के पहले पुत्र समित का जन्म हुआ और 2009 में उनके दूसरे पुत्र अन्वय का जन्म हुआ। अन्वय और समित को भी क्रिकेट खेलना बेहद ही पसंद है और अभी हाल में समित ने स्कूल की तरफ से एक शतक भी बनाया है।

Rahul dravid biography in Hindi | Net worth, career, education, wife, records

अभी तक राहुल द्रविड़ के जीवन पर दो आत्म कथाएं लिखी जा चुकी हैं जिसमें से पहली वेदान जयशंकर के द्वारा लिखित राहुल द्रविड़- एक जीवनी है और दूसरी देवेंद्र प्रभूदेसाई द्वारा लिखित ए नाइस गाय हु फिनिश्ड फर्स्ट को प्रकाशित किया गया।

राहुल द्रविड़ नेट वर्थ 


राहुल द्रविड़ के पास बहुत से ब्रांड तथा bcci के माध्यम से इनकम होती है, क्योंकि वे अंडर-19 टीम के कोच भी हैं, राहुल द्रविड़ की नेट वर्थ लगभग 14.3 मिलियन डॉलर यानी लगभग 104 करोड़ रुपये हैं.

राहुल द्रविड़ के बेहतरीन शतक Rahul dravid centuries in Hindi


राहुल द्रविड़ ने टेस्ट में 36 शतक और 63 अर्धशतक मारे हैं, जिनमें उनका सर्वोच्च स्कोर 270 था और एक-दिवसीय मैचों में उन्होंने 12 शतक और 83 अर्धशतक बनाये हैं। T-20 में उन्होंने ढाई हज़ार से ज्यादा रन बनाये हैं जिनमें 75* उनका सर्वोच्च स्कोर है।

विरुद्ध टीम

रन

स्थान

दक्षिण अफ्रीका

148

न्यू वांडरर्स स्टेडियम, जोहानिसबर्ग

ज़िम्बाब्वे

118

हरारे स्पोर्ट्स क्लब, हरारे

न्यूजीलैंड

190

वेस्टपैक ट्रस्ट पार्क हैमिल्टन

न्यूजीलैंड

103*

वेस्टपैकट्रस्ट पार्क मिल्टन

श्रीलंका

107

सिंहल स्पोर्ट्स क्लब ग्राउंड, कोलंबो

न्यूजीलैंड

144

पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम मोहाली, चंडीगढ़

ज़िम्बाब्वे

162

विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन ग्राउंड, नागपुर

ज़िम्बाब्वे

200*

फिरोज शाह कोटला, दिल्ली

ऑस्ट्रेलिया

180

इडेन गार्डेंस, कोलकाता

वेस्टइंडीज

144*

जॉर्जटाउन, गुयाना

इंग्लैंड

115

ट्रेंट ब्रिज, नॉटिंघम

इंग्लैंड

148

हेडिंग्ले, लीड्स

इंग्लैंड

217

निंगटन ओवल लंदन

वेस्टइंडीज

100*

वानखेड़े स्टेडियम, मुंबई

न्यूजीलैंड

222

सरदार पटेल स्टेडियम मोटेरा, अहमदाबाद

ऑस्ट्रेलिया

223

एडिलेड ओवल, ऑस्ट्रेलिया

पाकिस्तान

270

रावलपिंडी क्रिकेट स्टेडियम, पाकिस्तान

बांग्लादेश

160

एम.ए. अजीज स्टेडियम,चटगाँव

पाकिस्तान

110

इडेन गार्डेंस, कोलकाता


पाकिस्तान

135

इडेन गार्डेंस, कोलकाता

पाकिस्तान

128*

गद्दाफी स्टेडियम, लाहौर

पाकिस्तान

103

इक़बाल स्टेडियम फैसलाबाद

वेस्टइंडीज

146

बॉसेजोर स्टेडियम, ग्रोस आइलेट, सैंट लूसिया

बांग्लादेश

129

शेरे-ए-बांग्ला क्रिकेट मैदान, मीरपुर

दक्षिण आफ्रिका

111

एम.ए चिदम्बरम स्टेडियम, चेपक, चेन्नई

इंग्लैंड

136

पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम, मोहाली, चंडीगढ़

श्रीलंका

177

सरदार पटेल स्टेडियम, मोटेरा, अहमदाबाद

श्रीलंका

144

ग्रीन पार्क, कानपुर

बांग्लादेश

111*

शेर-ए-बांग्ला क्रिकेट स्टेडियम, मीरपुर

न्यूजीलैंड

104

सरदार पटेल स्टेडियम, मोटेरा, अहमदाबाद

न्यूजीलैंड

191

विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम जामथा, नागपुर

वेस्टइंडीज

112

सबीना पार्क, किंग्स्टन, जमैका

इंग्लैंड

103

लॉर्ड्स, लंदन

इंग्लैंड

117

ट्रेंट ब्रिज, नॉटिंघम

इंग्लैंड

146

ओवल लंदन

वेस्टइंडीज

119

इडेन गार्डेंस, कोलकाता


राहुल द्रविड़ के एक दिवसीय अन्तराष्ट्रीय में शतक


विरुद्ध टीम

रन

स्थान

पाकिस्तान

107

एम.ए. चिदंबरम स्टेडियम, चेपक,चेन्नई

न्यूजीलैंड

123*

ओवेन डेलानी पार्क, टॉऊपो

श्रीलंका

116

नागपुर के विदर्भ क्रिकेट संघ ग्राउंड

केन्या

104

काउंटी ग्राउंड, ब्रिस्टल

श्रीलंका

145

काउंटी ग्राउंड, टाउनटन

वेस्टइंडीज

103*

क्लेंग ग्राउंड, सिंगापुर

न्यूजीलैंड

153

लाल बहादुर शास्त्री स्टेडियम, हैदराबाद

वेस्टइंडीज

109 *

सरदार पटेल स्टेडियम, मोटेरा, अहमदाबाद

यु.ए.ई

104 

रन गिरी दांबुला इंटरनेशनल स्टेडियम, श्रीलंका

पाकिस्तान

104

नेहरू स्टेडियम, कोच्चि

श्रीलंका

103*

सरदार पटेल स्टेडियम, मोटेरा, अहमदाबाद

वेस्टइंडीज

105 

सबीना पार्क, किंग्स्टन, जमैका


राहुल द्रविड़ की उपलब्धियाँ Rahul dravids achievements in Hindi


  • अर्जुन पुरस्कार 1998
  • विश्व कप के सीएट क्रिकेटर 1998-99
  • विस्डेन क्रिकेटर ऑफ द ईयर 2000
  • सर गारफील्ड सोबर्स ट्रॉफी विजेता - आईसीसी प्लेयर ऑफ़ द इयर 2004
  • आईसीसी प्लेयर ऑफ द ईयर 2004
  • पद्म श्री पुरस्कार 2004
  • आईसीसी टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर 2004
  • एमटीवी यूथ आइकन 2004
  • ICC टेस्ट टीम कप्तान 2006

Conclusion

इस लेख में आपने राहुल द्रविड़ की बायोग्राफी (Biography of Rahul dravid in Hindi) पढ़ी। आशा है यह विस्तृत लेख आपको पसंद आया हो। अगर यह लेख आपको अच्छा लगा हो, तो इसे शेयर ज़रुर करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ