Indian Cricketer Hardik pandya biography in Hindi | हार्दिक पंड्या की जीवनी

 

Indian Cricketer Hardik pandya biography in Hindi | हार्दिक पंड्या की जीवनी
 

Hardik pandya biography in Hindi


हार्दिक पंड्या एक उभरते हुए सितारे के रूप में पूरी दुनियाँ के सामने आए हैं। इस लेख में हम विस्फोटक ऑल-राउंडर क्रिकेटर हार्दिक पंड्या की जीवनी (Hardik pandya’s biography in hindi) पढेंगे। कुछ क्रिकेट विशेषज्ञों का मानना है की हार्दिक पंड्या में वीरेन्द्र सहवाग और श्रीनाथ का मिक्सचर है।

अगर आप Hardik pandya के जीवन से जुड़ी सभी जरूरी पहलुओं को जानना चाहते हैं और उनके गरीब से अमीर बनने की कहानी जानना चाहते हैं तो आप सही जगह हैं। चलिए बढ़ते हैं Cricketer Hardik pandya की Biography की तरफ।

हार्दिक पंड्या का जन्म और शुरुवाती जीवन - Hardik pandya Early life


बहुत कम लोग होते हैं जिन्हें अपने लक्ष्य का ज्ञान शुरुवात से होता है और वे बिना भटके उसी पर अड़े रहते हैं और उनमें से भी बहुत ही कम लोग होते हैं जिनके पैरेंट्स उनकी जन्मजात अभिलाषाओं को महत्व देते हैं और उसके लिए अपना सबकुछ दांव पर लगा देते हैं।


हार्दिक पंड्या और उनकी फैमिली भी उन्ही कम लोगों में से एक हैं। हार्दिक पंड्या का जन्म 11 अक्टूबर सन 1993 में सूरत के अड़ाजन सिटी में हुआ था उनके पिता जी हिमांशु पंड्या एक फ़ाइनेंसर थे और माता नलिनी पंड्या एक गृहिणी हैं।

हार्दिक पंड्या के एक बड़े भाई भी हैं जिनका नाम कुनाल पंड्या है जिनको हार्दिक पंड्या की तरह जाना जाता है। हार्दिक पंड्या के पिताजी शुरुवात में सूरत में अपने व्यवसाय को करते थे लेकिन जब उन्होंने देखा की उनके बेटों को क्रिकेट का ख़ास चस्का है तो वे सूरत छोड़कर बरोडा शिफ्ट हो गए।

हार्दिक पंड्या और उनके भाई का दाखिला एम. के हाई स्कूल में करवाया लेकिन उनके परिवार की स्थिति शुरुवात में थोड़ी नरम थी जिसके कारण उनका परिवार बरोडा में एक किराए के मकान में रहता था।

हार्दिक पंड्या का शुरुवाती जीवन बेहद मुश्किलों से भरा था जिसके कारण वे अपने लिए अच्छे बैट और किट नहीं ले पाते थे लेकिन उन्होंने कभी खुद के ऊपर निराशा को हावी नहीं होने दिया और मन लगाकर अभ्यास करते गए।

शुरुवाती दिनों में उनके पास ग्राउंड तक जाने के भाड़े तक नहीं होते थे लेकिन वे तब भी कभी लिफ्ट मांगकर तो कभी दोस्तों के साथ अभ्यास करने जाया करते थे।

Indian Cricketer Hardik pandya biography in Hindi | हार्दिक पंड्या की जीवनी
image source- indiatv


हार्दिक पंड्या का कैरियर - Hardik pandya career in hindi


हार्दिक पंड्या के पिता जी जब सूरत से बरोडा शिफ्ट हुए तब उन्होंने ने अपने दोनों बेटों का दाखिला किसी छोटे और सस्ते अकैडमी में कराने के बजाय किरण मोरे क्रिकेट अकैडमी में कराया। आपको जानना चाहिए की किरण मोरे भी बरोडा से खेले थे और आगे चलकर उन्होंने भारत के लिए खेला था।

शुरुवाती दिनों में किरण मोरे हार्दिक से काफी प्रभावित रहते थे लेकिन उनकी शरारत के कारण उन्हें कोई छुट नहीं देते थे। किरण मोरे क्रिकेट अकैडमी उस समय एक प्रख्यात अकैडमी थी क्योंकि उस वक़्त ज्यादा अकैडमी नहीं हुआ करती थी।

हार्दिक पंड्या अंडर-16 और अंडर-19 में चुने गए तब जाकर उनकी हालत थोड़ी ठीक हुई क्योंकि स्टेट लेवल के क्रिकेटर्स पर बरोडा क्रिकेट एसोसिएशन ख़ास ध्यान देते थे। अब उनके अभ्यास की दिक्कतें समाप्त हो चुकी थी लेकिन कई बार जब घर से दूर मैच होता था तब उनके पास जाने के लिए भाड़े भी नहीं होते थे और वे अपने मित्रों के साथ या लिफ्ट मांगकर जाते थे।

सन 2013 में हार्दिक पंड्या ने अपनी टीम को घरेलु टूर्नामेंट्स में जीत दिलाई तब उनके परफोर्मेंस के आधार पर उन्हें मुंबई इंडियन्स के अतिरिक्त खिलाड़ियों में चुना गया। जब वे मुंबई के साथ जुड़े तब सचिन तेंदुलकर ने उनकी कुशलताओं को पहचाना और कहा की ये लड़का आने वाले कुछ सालों में रिकॉर्ड ब्रेकर बनेगा।

सन 2013 में उन्हें 10 लाख में खरीदा गया लेकिन उनके कुछ ही परफोर्मेंस के बाद उनकी कद में इजाफा हुआ और उनकी सभी जगह चर्चा होने लगी। जब उन्हें मौका दिया गया तो उन्होंने युवराज सिंह जैसे बल्लेबाजों को अपने गेंदबाजी से चकमा दिया और बल्ले से कई छोटी और धुवाधार पारियां खेली।

सचिन तेंदुलकर की भविष्यवाणी सच हुई जब कुछ महीनों में ही हार्दिक को भारतीय t-20 टीम में चुन लिया गया और उन्होंने कई बेहतरीन पारियां खेली और विकेट लिए।

हार्दिक पंड्या आज भी भारतीय टीम में सबसे फिट खिलाडियों में गिने जाते हैं उनकी तुलना विराट कोहली के फिटनेस से होती है।

हार्दिक पंड्या के बीस ओवर क्रिकेट में डेब्यू के आठ महीनें बाद ही उनका चयन धर्मशाला में न्यूजीलैंड के खिलाफ हुआ जिसमें उन्होंने 32 गेंदों में 36 रनों की धुवाधार पारी खेली और पूरी दुनियाँ में चर्चा का पात्र बन गए।

उसके बाद वे रुके नहीं और आज तक अपने बल्लेबाजी और गेंदबाज़ी से चर्चा के पात्र बने रहते हैं लेकिन उससे भी ज्यादा वे कंट्रोवर्सी के कारण चर्चा में बने रहते हैं।

हार्दिक पंड्या के विवाद -Hardik pandya and their controversies


हार्दिक पंड्या आजकल नहीं बल्कि अपने बचपन से ही विवाद का विषय बने रहते थे चाहे वह अपने स्कूल को छोड़कर घुमने चले जाना हो या अपने ख़राब रवैये के कारण स्टेट टीम से बाहर हो जाना हो। लेकिन बड़े हो जाने के बाद भी आये दिन उनका नाम किसी न किसी कंट्रोवर्सी से जुड़ जाता था।

ऐसे ही उनकी एक कंट्रोवर्सी कारण जोहर के शो “द कोफ़ी विथ करन” में हुई जब उन्होंने अपने नाजायज संबंधों को हस कर नेशनल टीवी पर स्वीकार करने लगे थे। हालांकि उनके ऊपर उनके सीनियर्स का सहयोग था इसलिए उनपर कोई बड़ी कार्यवाही नहीं हुई।

उनका नाम कई अभिनेत्रियों और लड़कियों के साथ जुड़ने लगा जिसके कारण उन्हें अक्सर मिडिया से भागना पड़ता।

हार्दिक पंड्या का निज़ी जीवन -Hardik pandya personal life


हार्दिक पंड्या की गर्लफ्रेंड नताशा जो बाद में उनकी धर्मपत्नी बनी। हार्दिक और नताशा 1 जनवरी 2020 को शादी के बंधन में बंध गए और कुछ ही महीनों में उन्हें बेटा हुआ जिसका नाम “अगस्त्य” है।
 
Indian Cricketer Hardik pandya biography in Hindi | हार्दिक पंड्या की जीवनी
Image source- DNA India


हार्दिक पंड्या कहते हैं की वे अपने जीवन में अपने लिए सही पार्टनर के लिए कई महिलाओं से मिलें लेकिन उनका सच्चा आत्मीय प्रेम उन्हें नताशा के साथ अनुभव हुआ।

हर्दिक पंड्या की नेट- वर्थ Hardik pandya Net worth


हार्दिक पंड्या अपने जीवन में तमाम मुसीबतों के बावजूद खुद को काबिल बनाया। जब वे बरोडा में खेलते थे तो उनके सीनियर उन्हें “कालू” (रंगभेदी कटाक्ष) कहकर मजाक करते थे लेकिन वे इसका कभी बुरा न मानते थे बल्कि यह कहते थे की “यार मुझे लगता है की मैं एक दिन इंडिया खेलूँगा”

हार्दिक पंड्या का खुद पर यकीन ही उन्हें आज इस काबिल बनाया की आज वे हज़ारों लोगों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है हार्दिक पंड्या का नेट वर्थ लगभग 30 से 35 करोड़ रुपये की है जो तेज रफ़्तार से बढ़ रही है क्योंकि उनके पास आज बहुत से ब्रैंड हैं जो उन्हें ऐड के लिए भरी कीमत देने को तैयार रहते हैं।

Conclusion

इस लेख में आपने हार्दिक पंड्या की जीवनी को सरल भाषा में पढ़ा आशा है यह छोटी तथा आकर्षक जीवनी आपको पसंद आई होगी अगर आपको हार्दिक पंड्या की जीवनी पसंद आई हो तो इसे शेयर जरुर करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ